• Home
  • राजस्थान प्रदेश
  • अशोक गहलोत सरकार ने बढ़ाई पाबंदी, 12वीं के स्कूल 30 जनवरी तक बंद, दुकानें रात 8 बजे तक खुली रहेंगी
राजस्थान प्रदेश

अशोक गहलोत सरकार ने बढ़ाई पाबंदी, 12वीं के स्कूल 30 जनवरी तक बंद, दुकानें रात 8 बजे तक खुली रहेंगी

अशोक गहलोत सरकार ने बढ़ाई पाबंदी, 12वीं के स्कूल 30 जनवरी तक बंद, दुकानें रात 8 बजे तक खुली रहेंगी


गहलोत सरकार ने प्रदेश में कोरोना संक्रमण के मद्देनजर बड़ा निर्णय लेते हुए कक्षा 12 वीं तक के स्कूल 30 जनवरी तक बंद करने का निर्णय लिया है। राज्य के गृह विभाग द्वारा जारी गाइडलाइन के अनुसार राज्य के सभी नगर निगम और नगर पालिका क्षेत्र में 12 वीं तक के शैक्षणिक विद्यालय, कोचिंग 30 जनवरी तक बंद रहेंगी। लेकिन आनलाइन अध्ययन की अनुमति रहेगी। अंतिम संस्कार में 20 व्यक्ति ही शामिल हो सकेंगे। राज्य के सभी धार्मिक स्थलों को सुबह 5 बजे से रात्रि 8 बजे तक खुले रहने की अनुमति होगी। सभी दुकानों, प्रतिष्ठानों, व्यवसायिक गतिविधियों को रात्रि 8 बजे तक खोलने की अनुमति होगी।

अंतिम संस्कार में 20 लोगों को अनुमति

हाल ही में प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच सीएम गहलोत ने मुख्यमंत्री आवास पर विभिन्न धर्म गुरुओं की बैठक हुई थी। सीएम बैठक में धर्म गुरुओं से सुझाव लेने के बाद ही धार्मिक स्थलों पर गाइडलाइन जारी की है। उल्लेखनीय है कि कोरोना की दूसरी लहर में भी सीएम गहलोत ने धार्मिक स्थल बंद करने से पहले धर्म गुरुओं के साथ बैठक की थी। बैठक में कोरोना संक्रमण पर किस तरह से काबू पाया जाए इसकों लेकर धर्मगुरुओं से सुझाव लिया था। गहलोत सरकार ने सुझाव लेने के बाद ही शैक्षणिक संस्थानों पर पाबंदियां बढ़ाई है। सीएम गहलोत ने संकेत दिए थे कि 3 जनवरी के बाद सख्ती की जाएगी। अंतिम संस्कार में 20 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे। पहले 30 लोगों के शामिल होने की अनुमति थी।

मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने दिया था बंद करने का सुझाव

सीएम गहलोत ने हाल में प्रदेश में बढ़ते ओमिक्राॅन और कोरोना केसों को लेकर मंत्रियों और विशेषज्ञों के साथ बैठक की थी। मुख्यमंत्री निवास पर वीसी के जरिए हुई बैठक में विशेषज्ञों ने इस बात को लेकर सुझाव दिए थे कि शैक्षणिक संस्थानों और धार्मिक स्थलों को बंद कर दिया जाए। खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने धार्मिक स्थलों को बंद करने का सुझाव दिया था। स्वास्थ्य मंत्री परसादी लाल मीणा ने भी स्कूलों पर ज्यादा ध्यान देने की बात कही थी। बैठक में यह भी सुझाव आया कि मंदिरों में लगातार श्रद्धालुओं की संख्या बढ़ रही है। राजधानी जयपुर में कम्युनिटी स्प्रेड का खतरा बड़ रहा है। उसके मद्देनजन राज्य का गृह विभाग गाइडलाइन जारी की है। कोरोना की दूसरी लहर में विभिन्न सामाजिक संगठनों ने सराहनीय कार्य किया था। सीएम चाहते हैं कि इस बार भी सामाजिक संगठन सरकार का सहयोग करें। राजस्थान में कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है।

Related posts

निकाय व पंचायत चुनाव में कानून व्यवस्था को लेकर गृह और पुलिस अधिकारियों के साथ चुनाव आयुक्त ने की बैठक

Rajasthan Samachar

डीजीपी एमएल लाठर ने किया पदभार ग्रहण, कहा – प्रदेश में शांति व्यवस्था बनाए रखने के आवश्यक प्रयास किए जाएंगे

Rajasthan Samachar

प्रबोधक संघ इटावा ने मुख्यमंत्री का आभार जताया तथा ईर्ष्यालु प्राथमिक माध्यमिक संघ नेता की निंदा की

Rajasthan Samachar

Leave a Comment

error: Content is protected !!