राजस्थान प्रदेश

मिलावटखोरों एवं कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कसे- सीएम अशोक गहलोत 

मिलावटखोरों एवं कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कसे – सीएम अशोक गहलोत 

जयपुर, 24 मई । कोरोना संक्रमण के दौरान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग द्वारा अपनाए गए नवाचारों और उचित मूल्य दुकानदारों के माध्यम से घर-घर राशन सामग्री वितरण के कार्य सराहनीय हैं। राशन वितरण व्यवस्था सुदृढ़ बनाने के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजने के निर्देश दिए

लोगों को शुद्ध खाद्य पदार्थ उपलब्ध हो इसके लिए खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग तथा चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग मिलकर मिलावटखोरों एवं कालाबाजारी करने वालों पर शिकंजा कसे। उचित मूल्य दुकानों की पर्याप्त मॉनिटरिंग एवं समय-समय पर निरीक्षण की पुख्ता व्यवस्था करने के निर्देश दिए,

ताकि पात्र व्यक्तियों को राशन मिल सके और इसकी कालाबाजारी नहीं हो। पोस मशीनों के अपग्रेडेशन पर भी जोर दिया ताकि नेटवर्क नहीं मिलने और बायोमैट्रिक सत्यापन में अधिक समय लगने की समस्या हल हो सके।

लॉकडाउन की अवधि में जिला प्रशासन के माध्यम से प्रदेश में 3.7 करोड़ असहाय एवं जरूरतमंदों को सूखा राशन एवं पकी हुई खाद्य सामग्री वितरित की गई।

प्रवासी व्यक्ति एवं अन्य विशेष श्रेणी के लोग जो खाद्य सुरक्षा योजना की सूची में शामिल नहीं है उन्हें आगामी 2 माह तक 5 किलो प्रति व्यक्ति गेहूं निःशुल्क दिया जाएगा। इसके लिए सर्वे करवाकर डेटाबेस तैयार किया जाए ताकि उचित मूल्य की दुकानों के माध्यम से उन्हें गेहूं वितरित किया जा सके।

खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग ऐसे प्रवासियों जिनका नाम एनएफएसए सूची में नहीं है उन तक 5 किलो प्रति व्यक्ति गेहूं पहुंचाकर उन्हें राहत प्रदान करे और इस कार्य में तेजी लाई जाए।

Related posts

राज्य में एक जून को सभी जिलों में एक साथ फसल रहन ऋण का होगा वितरण ,रहन ऋण के लिए 4 हजार ग्राम सेवा सहकारी समितियों को किया अधिकृत, किसानों को 3 फीसदी ब्याज पर रहन ऋण मिलेगा

Rajasthan Samachar

राजस्थान सरकार ने ब्लैक फंगस को महामारी घोषित किया, कोरोना से ठीक हुए लोगों में बढ़ रहा यह रोग

Rajasthan Samachar

मुख्यमंत्री पुलिस थाना स्तर के अधिकारियाें से संवाद करेंगे

Rajasthan Samachar

Leave a Comment

error: Content is protected !!